.

Replies

  • Replying to @aajtak

    ऐसे जिम्मेदार पद पर रह चुके व्यक्ति का सिर्फ कौम के पक्ष में गलत सही जानते हुए भी बोलना दुर्भाग्यपूर्ण।अफसोस 98% ऐसा ही कर रहे हैं।

    0
    0
    3
  • Replying to @aajtak

    अभी तक किसी शाहीन बाग वाले को पुलवामा अटेक पर शोक व्यक्त करते हुए देखा , ना देखोगे ,

    क्योंकि इस्लाम काफिरों की मौत पर जश्न मनाने का आदेश देता है शोक मनाने का नही !

    0
    0
    2
  • Replying to @aajtak

    आलोचना की तारे कौमी भावना से जूड़ी हुई। चाहे कोई bollywood से हो, या मुल्ला, मौलवी, चपरासी, बाबू,उच्च अधिकारी, लियूटीनेंट गवर्नर, इन सब के विचार इनकी धार्मिक एकता से प्रेरित।
    दिल्ली में "secularitis" से ग्रसित चुटिया हिन्दू मुफ्त बिजली पानी का कैसे होली, विजय दशमी बना रहा।

    0
    0
    2
  • Replying to @aajtak

    Bharat m ek govt employee ka mansikata hai jab o job m hote hai sare corrupt,kam chori ka kam karenge par jaise hi job se Retire hote unaki aatama jag jati hai .Es mansikata ko peon se lekar iAS type officer's that's is lower to upper tak change karana hoga tab ja sahi vikas hoga

    0
    0
    1
  • Replying to @aajtak

    दूसरे के कामों की आलोचना करना आसान है,
    पर जब खुद पर आती है तब गाँड फटती है।

    0
    0
    1
  • Replying to @aajtak

    ये हरामी पद पर रहते कुछ नहीं कर सकें,
    बाहर आते ही ज्ञान देने लग जाते हैं।

    0
    0
    0
  • Replying to @aajtak

    सारे के सारे वफादार ही हैं
    वो अपने समय के थे
    ये अपने समय के हैं

    0
    0
    0
  • Replying to @aajtak

    यानी पहले वालों ने गलती की तो आप भी करेंगे?

    0
    0
    0
  • Replying to @aajtak

    दो गलत मिल कर एक सही नहीं हो जाता,ईसी साहब ।

    0
    0
    0